Essay on Holi in Hindi | होली पर निबंध [2021]

Essay on Holi Hindi me – अगर आप Happy Holi पे Short & Long Essay ढूंढ रहे है तो ये आर्टिकल आपके लिए है। इस आर्टिकल में मैंने Holi Essay in Short Holi Essay in Long लिखा है।अगर आप इस आर्टिकल को फॉलो करते है तो आप पाएंगे ये आर्टिकल में Holi essay in Hindi for Child को भी Cover करता है।

अगर आप पचबी कक्षा में पढ़ते है तो भी short note on Holi in Hindi for class 5 300 Words Essay को Use कर सकते है। ये आर्टिकल क्लास 5 से 10 तक के Happy Holi Essay Hindi me को कवर करता है इसलिए इसे अच्छे से पढ़े और अपने कॉपी में लिखे ऐसा एस्से आपको और कही नहीं मिलेगा ।

Essay on Holi Hindi | होली पर निबंध (600 Words) शब्दों में।

होली हिंदुओं का महत्वपूर्ण त्यौहार है यह त्योहार हर साल फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है। भारत के अलावा और भी जगह जैसे ब्रज की होली, मथुरा की होली, वृंदावन की होली, बरसाने की होली, काशी की होली बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है।

होली एक ऐसा रंग बिरंगा त्यौहार है जिसमे लोग सारे गिले-शिकवे भूलकर एक-दूसरे को रंग लगाते हैं होली का त्योहार भाईचारे का त्योहार है इस त्यौहार में हर जाति एवं धर्म के लोग पूरे उत्साह से इस त्योहार को मनाते हैं।इस दिन सारे लोग अपने पुराने गिले-शिकवे भूलकर गले लगाते हैं और एक-दूसरे को गुलाल लगाते हैं तथा हम बच्चे और बड़े इस पर्व को पूरे उत्साह और मस्ती के साथ मनाते हैं।

होली के दिन प्रातः काल उठकर रंगों को लेकर अपने अपने रिश्तेदारों और मित्रों के घर जाते हैं और उनके साथ बड़े ही धूमधाम से रंग खेलते हैं बच्चे भी इस त्योहार को बड़े ही धूमधाम से मनाते हैं वह 1 दिन पहले ही बाजार से अपने लिए तरह-तरह की पिचकारी एवं गुब्बारे लाते हैं तथा अपने मित्रों के साथ होली खेलते हैं घर में औरतें एक दिन पहले ही तरह तरह की पकवान जैसे मिठाई आदि बनाती है और अपने आसपास के लोगों में बाटती है।

उसके बाद होली के दिन शाम को लोग एक दूसरे के घर जाते हैं वह गुलाल खेलते हैं तथा ढेर सा री पकवान खाते हैं इस दिन लोग खूब सारी मस्ती करते हैं होली के दिन कई जगह मटकी भी फोरि जाती है लोग मटकी को काफी उचाईयो तक टाँग देते है तथा लोगो की टोली बनाकर उसे फोरते है इससे लोगो को काफी आनंद मिलता है

आजकल अच्छी क्वालिटी के रंगों का प्रयोग नहीं होता है जिससे त्वचा को नुकसान पहुंच सकती है इसलिए हमें अच्छी तरह से रंग का प्रयोग ही करनी चाहिए जिससे किसी को भी किसी प्रकार की समस्या ना हो लोग अच्छे से रंग खेल सके बच्चों को भी सावधानीपूर्वक ही रंग खेलना चाहिए  किसी को भी गुब्बारा नहीं फेंकना चाहिए क्योंकि यह गुब्बारे आंखों को नुकसान भी पहुंचा सकती है ।

होली से 1 दिन पहले होलिका दहन का त्यौहार होता है यह रात को सूर्य जलने के बाद मनाया जाता है होलिका दहन के लिए लोग कुछ दिन पहले से ही लोग लकड़ियां की व्यवस्था करते हैं उस पर रात को संवत जलाते हैं तथा मारवाड़ी लोग इसकी पूजा करते हैं संवत देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं तथा इस का आनंद लेते हैं।

होली मनाने के पीछे अनेकों कथाएं भी है होली मनाने की एक रात पहले सम्वत को जलाया जाता है इसके पीछे एक लोकप्रिय कथा है हिरनकश्यप नाम का एक राक्षस था जिसमें ब्रह्मा जी से वरदान प्राप्त कर लिया था कि उसे कोई भी नहीं मार सकता है इसलिए वह यह वरदान पाकर इतना करूर हो गया कि वह अपने आप को भगवान मानने लगा वह भगवान विष्णु का बहुत बड़ा दुश्मन था।

कुछ समय बीतने के बाद हिरनकश्यप का एक बेटा हुआ जो कि भगवान विष्णु का बहुत बड़ा भक्त था हिरनकश्यप के काफी समझाने के बाद भी वह भगवान विष्णु की पूजा करना नहीं छोड़ता था वह  हिरनकश्यप ने अपनी बहन होलिका से मदद मांग कर उसे मारने की कोशिश की।

होलिका को आग में नहीं जलाने का वरदान था इसलिए वह प्रह्लाद को लेकर जलती आग की चिता पर बैठ गई थी लेकिन भगवान विष्णु की कृपा से प्रह्लाद को कुछ भी नहीं हुआ और होलिका जलकर भस्म हो गई।

यह कथा इस बात का संकेत करती है कि बुराई पर अच्छाई की जीत अवश्य होती है आज भी पूर्णिमा से एक दिन पहले होलिका दहन होता है तथा अगले दिन सब लोग इस त्योहार को बड़े ही धूमधाम से मनाते हैं।

निष्कर्ष

होली का त्योहार भारत में बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है इस दिन लोग अपने सारे गिले-शिकवे भूलकर एक-दूसरे को रंग लगाते हैं इसलिए इस त्यौहार को दोस्ती का प्रतीक कहा गया है इस दिन समाज में कोई ऊंच-नीच नहीं देखता है  तथा सभी लोग एक दूसरे को गले लगाकर होली का त्योहार मनाते हैं।

Holi Essay in Hindi | (300 Words) शब्दों में।

Now write an essay on Holi

होली हिंदुओं द्वारा मनाई जाने वाली प्रमुख त्योहारों में से एक है यह हर साल फागुन महीने में आता है और इसे फागुन मास की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है। फागुन माह से ही वसंत ऋतु की भी शुरुआत हो जाती है।

होली एक ऐसा त्यौहार है। जिसे लोग बड़े ही धूमधाम से मनाते हैं।भारत में होली का त्योहार अलग अलग राज्यों में अलग अलग तरीके से मनाया जाता है इस दिन लोग अपने सारे गिले-शिकवे को भूलकर एक-दूसरे से गले मिलते हैं तथा एक दूसरे को होली की बधाई भी देते हैं।

इस त्यौहार को बच्चे बहुत ही उत्साह से मनाते हैं तथा होली आने के पहले से ही रंग,पिचकारी,गुब्बारे आदि की तैयारी में लग जाते हैं इस पर्व को बच्चे बहुत ही धूमधाम से मनाते हैं।

होली से 1 दिन पहले होलिका दहन का त्यौहार मनाया जाता है होलिका दहन से पहले ही लोग लकड़ी इकट्ठा करते हैं।और होलिका दहन के दिन इसे जलाते हैं। इसमें महिलाएं रीति-रिवाज से पूजा करती है तथा गीत भी गाती है। सभी लोग इस दिन घूमने जाते हैं और इस पर्व का आनंद लेते हैं।

होली हिंदू के अलावा सभी धर्म के लोग बड़े उत्साह से मनाते हैं क्योंकि होली उत्सव नहीं आशा और नयी जोश के साथ मनाई जाने वाली पर्व है इस दिन लोग तरह-तरह के पकवान बनाते हैं तथा एक दूसरे को खिलाते हैं इस दिन लोग एक दूसरे के घर घूमने जाते हैं और एक-दूसरे को गुलाल लगाकर बधाई देते हैं।

इस पर्व को मनाने के पीछे एक बहुत बड़ी कथा भी है बहुत समय पहले एक राजा हिरण कश्यप था तथा उसकी बहन होलिका और उसका पुत्र प्रह्लाद जोकि बहुत अच्छा इंसान था और वह भगवान विष्णु का भक्त था जबकि उसके पिता चाहते थे कि प्रहलाद समेत सभी उनकी पूजा करें लेकिन प्रहलाद विष्णु भगवान की पूजा करता था इससे हिरण कश्यप नाराज हो गए और उसे आग में जलाकर मारने की योजना बना ली तथा उसमें अपनी बहन होलिका से कहा कि वह प्रह्लाद को गोद में लेकर आग में बैठे क्योंकि भगवान से यह वरदान मिला था कि उसे आग जला नहीं सकता अपने भाई की बात मानकर होलिका आग में बैठ गई परंतु प्रह्लाद को इस आग से कुछ भी नहीं हुआ बल्कि होलिका आग में जलकर खाक हो गई।

Conclusion:

उम्मीद करता हूं कि यह आर्टिकल (Essay on Holi Hindi me) आपको काफी पसंद आई होगी।अगर आपको ये Holi Essay पसंद आई हो तो कृपया आप इसे अपने दोस्तों को शेयर करे ताकि वे लोग भी होली पर अच्छा सा Essay लिख सके।

अगर आपको इस एस्से में किसे भी तरह का प्रॉब्लम हो तो आप हमे सम्पर्क करे ताकि हम आपकी शारी प्रोब्लेम्स Solve कर सके और आप भी अच्छा सा Essay लिखना सिख जाये।

अगर आपको यह “holi essay in Hindi with quotation” पसंद आया हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों में शेयर करें ताकि वे भी Essay लिखना सीख सके।

धन्यवाद॥

Leave a Comment